एक करोड़ लोगों का बैंक अकाउंट डाटा लीक, आप भी हो सकते हैं शिकार, दिल्ली में मॉड्यूल का पर्दाफाश

राजधानी में पुलिस ने एक मॉड्यूल का पर्दाफाश कर एक करोड़ लोगों का बैंक अकाउंट डाटा लीक होने की जानकारी दी है। इसके अलावा लोगों की क्रेडिट-डेबिट डीटेल और फेसबुक-वॉट्सऐप डाटा जैसी सेंसिटिव इन्फॉर्मेशन भी बेचे जाने का खुलासा हुआ है। बैंक ऑफिशियल्स की मिलीभगत से चलाया जा रहा था मॉडयूल…

– न्यूज एजेंसी के मुताबिक डीसीपी (साउथ-ईस्ट) आर बानिया ने शुक्रवार को बताया, “दिल्ली के ग्रेटर कैलाश में रहने वाली एक बुजुर्ग महिला (80) के केस की जांच करते हुए यह मामला सामने आया। जिसके बाद पुलिस ने बैंक ऑफिशियल्स की मिलीभगत से चलाए जा रहे इस मॉड्यूल का पर्दाफाश किया। इस मॉड्यूल में बैंक में काम करने वालों और कॉल सेंटर्स से जानकारी निकलवाई जाती थी और फिर उसे बेच दिया जाता था।” 

Related Top posts:-  1 अप्रैल से पहले ऐसे बंद कराएं Jio सिम, नहीं तो आएगा लंबा बिल

20 पैसे प्रति ग्राहक बेच रहा था डिटेल


दिल्ली पुलिस ने इस मॉड्यलू का भंडाफोड़ किया है जो लंबे समय से बैंक अधिकारियों के साथ मिलीभगत कर इसे अंजाम दे रहा था. दिल्ली साउथ ईस्ट के डीसीपी आर बानिया ने बताया कि यह गैंग बैंक अकाउंट, क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड के डिटेल्स, फेसबुक और व्हाट्सअप के डेटा को 20 पैसे प्रति ग्राहक के हिसाब से बेचता था. गैंग के साथ इस धोखाथड़ी में कुछ बैंक अधिकारी भी शामिल थे. पुलिस इस मामले को लेकर कई लोगों से पूछताछ कर रही है. 


दिल्ली पुलिस ने किया मॉड्यूल का पर्दाफाश 


कई लोगों के बैंक अकाउंट्स से जुड़ी सभी जानकारी यह गिरोह सस्ते दामों पर बेच रहा था. पुलिस जांच के दौरान पता चला है कि 10 या 20 पैसे में आपके बैंक खाते से जुड़ी जानकारियां बेची जा रही हैं. जानकारी के मुताबिक दिल्ली के ग्रेटर कैलाश में रहने वाली एक 80 साल की महिला के केस की जांच करते हुए पुलिस को यह अहम जानकारी मिली . महिला के क्रेडिट कार्ड से 1.46 लाख रुपए उड़ा लिए गए थे. इसी केस की जांच के दौरान पुलिस ने बैंक अकाउंट्स की जानकारी बेचने वाले मॉड्यूल का पर्दाफाश किया. पुलिस को पता चला कि इस मॉड्यूल में बैंक में कार्यरत और कॉल सेंटर्स से जानकारी निकलवाई जाती थी और फिर उसे बेच दिया जाता था.

Related Top posts:-  Kaabil day 9 Thursday total box office collections- Came nearest to Raees


बैंक अकाउंट समेत अहम जानकारी बेच रहा था गैंग


दिल्ली के डीसीपी ने दावा किया कि मॉड्यूल के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने एक करोड़ लोगों के बैंक अकाउंट्स की जानकारी रिकवर की. बेची जानेवाली जानकारी में आपका कार्ड नंबर, कार्ड होल्डर का नाम, जन्मतिथि और मोबाइल नंबर है जानकारी के मुताबिक 50 हजार लोगों का डेटा बेचने के यह गिरोह 10 से 20 हजार लेता था.

(Visited 1 times, 1 visits today)

Have a Query? Ask Here, we will get back to you!