विजय माल्या लंदन में गिरफ्तार, 9000 करोड़ रूपये लेकर हुए थे फरार

बीते लगभग 13 महीने से फरार चल रहे चर्चित शराब कारोबारी और लोन डिफॉल्टर विजय माल्या को मंगलवार को लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया। तीन घंटे बाद उन्हें वेस्टमिंस्टर कोर्ट में पेश किया, जहां उन्हें जमानत मिल गई। हालांकि सीबीआई की टीम जल्द ही माल्या के प्रत्यर्पण के लिए लंदन का दौरा करेगी। बता दें कि माल्या को भारत के कई बैंकों का करीब 9 हजार करोड़ रुपए कर्ज चुकाना है।

सुबह9बजे हुई गिरफ्तारी
स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस ने एक बयान जारी कर कहा कि प्रत्यर्पण के वारंट पर भारतीय बिजनेसमैन माल्या को गिरफ्तार कर लिया गया है। यह अनुरोध सीबीआई द्वारा किया गया था। स्थानीय (ब्रिटेन) के समय के अनुसार माल्या को सुबह 9 बजे गिरफ्तार किया गया।सूत्रों के अनुसार, ब्रिटिश एडमिनिस्ट्रेशन ने भारतीय जांच एजेंसी सीबीआई को माल्या की गिरफ्तारी के बारे में सूचित किया है।
सीबीआई की टीम प्रत्यर्पण के लिए जाएगी लंदन
माल्या की गिरफ्तारी के साथ ही भारत सरकार ने उनके प्रत्यर्पण की कोशिशें शुरू कर दी हैं। सूत्रों के मुताबिक सीबीआई की एक टीम जल्द ही इस सिलसिले में ब्रिटेन का दौरा करेगी। इस संबंध में कुछ ही देर में सीबीआई एक प्रेस कान्फ्रेंस कर सकती है।
भारत सरकार ने की माल्या की गिरफ्तारी की पुष्टि
भारत सरकार ने भी माल्या की गिरफ्तारी की पुष्टि कर दी है। वित्त राज्य मंत्री संतोष गंगवार ने एक स्टेटमेंट जारी कर कहा कि सरकार ऐसे किसी भी शख्स को नहीं छोड़ेगी।
भारत ने फरवरी में की थी प्रत्यर्पण की रिक्वेस्ट
भारत सरकार ने माल्या को वापस सौंपने के लिए फरवरी में ही यूके हाई कमीशन को प्रत्यर्पण की रिक्वेस्ट भेजी थी। सरकार ने कहा था कि माल्या के खिलाफ फाइनेंशियल इरेग्युलेटरीज और लोन डिफॉल्ट के आरोपों में कई केस चल रहे हैं।
मार्च,2016में भागे थे लंदन
माल्या मार्च, 2016 में लंदन भागे थे। भारत सरकार पिछले काफी समय से माल्या को लंदन से वापस लाने की कोशिशें कर रही थी। हालांकि बीते कुछ महीनों के दौरान ये कोशिशें खासी तेज हो गई थीं। भारत सरकार ने ब्रिटिश से माल्या के प्रत्यर्पण की मांग की थी।
कितने के कर्जदार हैं माल्या

Related Top posts:-  इन ग्राहकों को फ्री में इंटरनेट डेटा देगा जियो

– 31 जनवरी 2014 तक किंगफिशर एयरलाइंस पर बैंकों के 6,963 करोड़ रुपए बकाया था। इस कर्ज पर इंटरेस्ट के बाद माल्या की टोटल लायबिलिटी 9,000 करोड़ रुपए से ज्यादा हो चुकी है।

– किंगफिशर एयरलाइंस अक्टूबर 2012 में बंद हो गई थी। दिसंबर 2014 में इसका फ्लाइंग परमिट भी कैंसल कर दिया गया।

माल्या बीते साल मार्च में भारत से फरार हो गए थे (फाइल)

ED-सीबीआई ने की थी माल्या को वापस लाने की मांग
प्रत्यर्पण के लिए ईडी, 1992 में भारत और ब्रिटेन के बीच हुई म्युचुअल लीगल असिस्टेंस ट्रीटी (MLAT) को टूल के तौर पर इस्तेमाल कर रही थी। जांच एजेंसी माल्या के खिलाफ मुंबई कोर्ट से जारी हुए गैर-जमानती वारंट की तामीली के लिए इंडियन फॉरेन मिनिस्ट्री से अपील कर चुकी थी।
MLAT के तहत दोनों देशों के बीच आपराधिक मामलों में आरोपी शख्स को एक-दूसरे को सौंपा जा सकता है। सबूत देने और जांच में सहयोग करने के मकसद से आरोपी की कस्टडी भी शामिल है।

Related Top posts:-  The 21 Most Legendary WWE Rivalries fights Of All Time, Ranked
(Visited 1 times, 2 visits today)

Have a Query? Ask Here, we will get back to you!