[जरूर पढ़ें] 28 फरवरी को बैंक के लिए हुआ ये बड़ा ऐलान, सभी सेवाएं होगी बंद

​बैंककर्मियों की 28 फरवरी को प्रस्तावित हड़ताल से सार्वजनिक बैंकों में सामान्य कामकाज प्रभावित होने की आशंका है। यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियंस (यू.एफ.बी.यू.) की अगुवाई में बैंककर्मियों की यूनियनों ने अपनी विभिन्न मांगों को लेकर हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है।

एस.बी.आई., पी.एन.बी. व बैंक आफ बड़ौदा सहित ज्यादातर बैंकों ने प्रस्तावित हड़ताल के बारे में अपने ग्राहकों को सूचित किया है और कहा है कि हड़ताल हुई तो उनकी शाखाओं व कार्यालयों में कामकाज प्रभावित होगा। हालांकि निजी क्षेत्र के आई.सी.आई.सी.आई. बैंक, एच.डी.एफ.सी. बैंक, एक्सिस बैंक तथा कोटक महिंद्रा बैंक में कामकाज सामान्य रहने की संभावना है। सिर्फ चेक समाशोधन का काम प्रभावित हो सकता है।

यू.एफ.बी.यू. 9 प्रमुख यूनियनों का शीर्ष संघ है लेकिन भारतीय मजदूर संघ से सम्बद्ध नैशनल आर्गेनाइजेशन आफ बैंक वर्कर्स तथा नैशनल आर्गेनाइजेशन आफ बैंक आफिसर्स इस हड़ताल में भाग नहीं ले रहा।

ऑल इंडिया बैंक एम्पलाइज एसोसिएशन (एआईबीईए) के महासचिव सी एच वेंकटचलम ने कहा कि 21 फरवरी को मुख्य श्रम आयुक्त के यहां हुई सुलह वार्ता विफल रही बैंक प्रबंधन की अगुवाई कर रहे इंडियन बैंक्स एसोसिएशन ने मांगों पर शर्ताें पर सहमति नहीं जताई। उन्होंने कहा कि यूनियनों की मांगों को कोई समाधान नहीं निकल रहा है इसलिए यूएफबीयू ने 28 फरवरी को हड़ताल पर जाने का फैसला किया है। उल्लेखनीय है कि देश में 27 सार्वजनिक बैंकों का कुल कारोबार में लगभग 75 प्रतिशत हिस्सा है।

Related Top posts:-  MWC 2017: How to Watch Live Stream and Everything We Know So Far [ LG G6 and more]

आपका खाता नया हो या पुराना, यदि आपने बैंक में अपना पैन नंबर नहीं दिया है तो आपका अकाऊंट फ्रीज किया जा सकता है। बैंक की तरफ से अपने ग्राहकों को नोटिस भेजकर पैन नंबर देने की अपील की जा रही है। इसके तहत अभी तक करीब एक लाख से अधिक लोगों को बैंक की तरफ से नोटिस भेजा चुका है। यदि किसी खाताधारक के पास पैन नंबर नहीं है तो वह फॉर्म-60 भरकर जमा करवा सकता है। पैन नंबर को देना अब सभी के लिए अनिवार्य कर दिया गया है।

बैंक ऐसा भारत सरकार की तरफ से जारी गाइडलाइंस के तहत कर रहे हैं। दरअसल, नोटबंदी के बाद बैंकों में बड़ी संख्या में ऐसे खातों में करोड़ों रुपए जमा कराए गए हैं, जिनके पैन नंबर अपडेट नहीं हैं। ऐसे में इन खातों को चैक करने के लिए सरकार ने सभी खातों को पैन नंबर से लिंक करने का निर्देश दिया है। इसकी पुष्टि एस.बी.आई. के रीजनल मैनेजर सुनील गोयल ने की है। उनका कहना है कि हमने अपनी सभी शाखाओं के बैंक मैनेजर्स को यह निर्देश जारी किया है कि सभी खाताधारक से पैन नंबर मांगा जाए। यदि किसी के पास पैन नंबर नहीं है उससे फॉर्म-60 भरवाया जाए।

Related Top posts:-  How to Delete Newsletters and Spams from Your Email Inbox in Bulk [email spam]

इंकम टैक्स के एक अधिकारी ने बताया कि पैन नंबर बैंक खाते के साथ अपडेट कराने के लिए जल्द ही सरकार की तरफ से लास्ट डेट जारी होगी। यदि उस अवधि तक कोई पैन नंबर और फॉर्म-60 नहीं जमा करवाता है तो उसके अकाऊंट को फ्रीज कर दिया जाएगा। इसके बाद उसके खाते से रुपए नहीं निकल पाएंगे। पैन डिटेल्स के.वाई.सी. मानक पूरे करने वाले खातों के लिए भी जरूरी है। यह नियम जीरो बैलेंस और जनधन खातों पर लागू नहीं होगा।

ज्यादा समझदारी ले डूबेगी

इंकम टैक्स अधिकारी ने बताया कि नोटबंदी के बाद बैंकों में बड़ी रकम जमा करने वालों की जांच का दूसरा फेज शुरू होने वाला है। इस बार निशाने पर वे लोग होंगे जिनके पास एक से ज्यादा पैन और बैंक खाते हैं। आयकर विभाग से बचने के लिए कई लोगों ने अलग-अलग पैन नंबर के जरिए या अलग-अलग खातों में पैसे जमा कराए हैं। डाटा एनालिसिस के जरिए ऐसे लोग सर्च किए जाएंगे। हालांकि 5 लाख रुपए से कम जमा वाले खाते इस जांच से बाहर रहेंगे। जांच अगले महीने से शुरू होगी।

Related Top posts:-  NASA's Internet Speed Of 91 Gbps Is 13,000 Times Faster Than Yours! Know The Truth Behind This
(Visited 1 times, 1 visits today)

Have a Query? Ask Here, we will get back to you!