पीएम मोदी ने दी एक और सौगात, खबर पढ़कर सब लोग हो जाएंगे खुश

​पीएम मोदी की सरकार ने सरकारी कर्मियों का बहुत ख्‍याल रखा है। पहले उन्‍होंने सातवें वेतन की खुशखबरी दी। उसके पीएफ को लेकर सबके दिल खुश किए। वहीं अब सरकारी कर्मियों के साथ-साथ असंगठित क्षेत्र में काम कर रहे लोगों को खुशखबरी दी है। मोदी सरकार ने कहा कि अब सभी लोगों की ग्रेज्‍युटी सीमा दस लाख से बढ़कर बीस लाख हो जाएगी।

ग्रेज्‍युटी सीमा बढ़ने से लोगों में खुशी

संगठित क्षेत्र के कर्मचारी जल्द ही 20 लाख रुपए तक टैक्‍स मुक्त ग्रेच्युटी के लिए पात्र होंगे। केंद्रीय श्रमिक संगठनों ने श्रम मंत्रालय के साथ त्रिपक्षीय विचार-विमर्श में इस प्रस्ताव पर अपनी सहमति जताई है। केंद्रीय ट्रेड यूनियन ग्रेच्युटी भुगतान कानून में प्रस्तावित संशोधन पर त्रिपक्षीय बैठक में अंतरिम उपाय के रूप में ग्रेच्युटी भुगतान की सीमा दोगुनी करने पर सहमत हो गए हैं। यूनियनों ने ग्रेच्‍युटी भुगतान के लिए प्रतिष्ठान में कम-से-कम 10 कर्मचारियों के होने तथा न्यूनतम पांच साल की सेवा की शर्तों को हटाने की मांग की है।

Related Top posts:-  [CONFIRMED] LG G6 to Come With Improved Quad DAC to Better Sound Quality

पांच साल की नौकरी पूरी करने पर मिलती है ग्रेज्‍युटी

वर्तमान में ग्रेच्युटी भुगतान कानून के तहत एक कर्मचारी ग्रेच्युटी के लिए उस समय पात्र होता है, जब उसने न्यूनतम पांच साल की सेवा पूरी कर ली हो। साथ ही यह कानून ऐसे प्रतिष्ठानों में लागू होता है, जहां कर्मचारियों की संख्या कम से कम 10 हो।

यूनियनों ने की एक मांग

अधिकतम राशि के संदर्भ में संशोधित प्रावधान एक जनवरी 2016 से प्रभाव में आने चाहिए जैसा कि केंद्र सरकार के कर्मचारियों के मामले में हुआ है। यूनियनों ने यह भी मांग की कि सेवा के प्रत्येक साल के लिए ग्रेचुटी भुगतान को 15 दिन के वेतन से बढ़ाकर 30 दिन के वेतन के बराबर किया जाना चाहिए। नियोक्ताओं के साथ राज्य प्रतिनिधियों ने भी ग्रेच्युटी की राशि बढ़ाकर 20 लाख रुपए करने पर सहमति जताई है।

Related Top posts:-  Verizon to Begin 5G User Trials in 11 US Markets by Mid-2017
(Visited 1 times, 1 visits today)

Have a Query? Ask Here, we will get back to you!